पूर्व नाम

पारस जैन (डाई) गुड्डू

जन्म तिथि 11 मई,1970
जन्म स्थान धमतरी, छत्तीसगढ़
पिता श्रावक श्रेष्ठ स्व. श्री भीकमचंद जैन
माता महिला रत्न श्रीमती गोपीदेवी जैन
लौकिक शिक्षा बी.ए. (जबलपुर)
गृह त्याग 27 जनवरी, 1993
ब्रह्मचर्य व्रत आचार्य श्री विद्यासागर जी महाराज से मढ़ियाजी तीर्थ, जबलपुर (म.प्र.)
ऐलक दीक्षा 27 जनवरी, 1994, गोपाचल पर्वत, ग्वालियर (म.प्र.)
मुनि दीक्षा वात्सल्य दिवाकर आचार्य श्री पुष्पदंत सागर जी महाराज
मुनि दीक्षा तिथि 11 Dec.,1995
प्रख्याति भारत गौरव, प्रखर वक्ता, कविहृदय, मनोज्ञ मुनि
सम्मान 2015 में मुनि श्री को भारत गौरव की उपाधि से लंदन में नवाज़ा गया, म.प्र. शासन द्वारा राजकीय अतिथि का दर्जा वर्ष 2004 में पुष्पगिरी महोत्सव के अवसर पर एवं राजस्थान शासन द्वारा राजकीय अतिथि का दर्जा वर्ष 2008 में उदयपुर में, राष्ट्र संत की उपाधि - 2010 इंदौर में, विश्व संत की उपाधि - 2001 दिल्ली मे
साहित्य लगभग 20 मौलिक तथा 2 अनुवादित ग्रन्थ
मासिक पत्रिका पुलक वाणी
संगठन अखिल भारतीय पुलक जान चेतना मंच एवं राष्ट्रीय जैन महिला जाग्रति मंच
केंद्रीय कार्यालय दिल्ली व देश भर में शाखाएँ
पहचान अंतस को झकझोर देने वाली प्रवचन शैली, सरलता सरल एवं मनोरंजक रूप में धरम व अध्यात्म के गूढ़ विषय कह देना
मिशन जिनशरणं तीर्थ
वर्षायोग 1993 से बड़ौदा (गुजरात), इटावा (उ. प्र.), कानपूर (उ. प्र.), मेरठ (उ. प्र.), दिल्ली, सहारनपुर (उ. प्र.), दिल्ली, दिल्ली, आगरा (उ. प्र.), ग्वालियर (म.प्र.), जयपुर (राज.), इंदौर (म.प्र.), नागपुर (महा.), मुंबई (महा.), सूरत (गुज.), उदयपुर (राज.), बांसवाड़ा (राज.), इंदौर (म.प्र.), जयपुर (राज.), दिल्ली, सीकर (राज.), ग्वालियर (म.प्र.), अजमेर (राज.), मुंबई (महा.)
Jeevan_wall

 

 


Advertisement