Guru Aashirwaad

गुरु का आशीर्वाद

 

 गुरु और भक्त का एक सुन्दर और अनोखा रिश्ता होता है, क्योंकि भक्त को परमात्मा से मिलाते हैं, गुरुदेव। जैसे सच्चे भक्त के मन में गुरु सदैव विराजमान रहते हैं, ठीक वैसे ही गुरु देव अपने भक्तों को सदैव याद रखते हैं ।जैसे भकत गुरु देव को भक्ति रूपी पुष्प अर्पण करने से नहीं चूकते वैसे ही गुरु देव भी सदैव अपने भक्तों को आशीर्वाद की छाया प्रदान करते रहते हैं ।

 

श्रीमती सीमा जैन (मुम्बई) को जन्मदिन की बहुत-बहुत शुभकामनाएँ...

 

 

Wish today:

 

Seema aunty Bday
 Bhanu Bday

भानु भाई (ग्वालियर) को जन्मदिन की बहुत-बहुत शुभकामनाएँ...

 

Wish today:

Guru Aashirwaad (2)

  

Ashish 01

Ashish 02

 Ashish 03  Ashish 04
 Ashish 05  Ashish 06
Bg

 


 

Ashish 07

Ashish 08

 Ashish 09  Ashish 10
 Ashish 11  Ashish 12
Bg

 


  

Ashish 13

Ashish 14

 Ashish 15  Ashish 16
 Ashish 17  Ashish 18
Bg

Past !!

" target="_blank" title="Bhajan 02">2. ओ पालनहारे....
AAkhir Kyn Anasawat Yogi Ahrat Geeta Aatamhatya Chalo Jaipur
" target="_blank" title="Bhajan 02"> Bhook Botal ka Toofan Dhaam Sharan Dharti Ke Dewata Ek Aur Muktidoot Haye Bhudapa Kanyadaan Maa Devmati Prem Jeevan Ka Mahamantra Pulak Yug Ram Bin Jag Soona Rishabh Katha Sanskaaro Ka Shankhnaad Sant Saadhna Sarwagya Vaani Sarwasava Saahitya Saadhna Master Ki Mri Aawaz Suno Oh! This Old Age Pratham Sopan Sarwaswa        

 

 

 

 

|| श्री पुलकसागर गुरुवे नमः || 

 

राष्ट्र संत परम पूज्ये गुरदेव मुनि श्री पुलक सागरजी महाराज के विचारो एवं चिंतन से रूबरू कराती एकमात्र मासिक पत्रिका पुलक वाणी |

 

पुलक वाणी की आजीवन सदस्यता प्राप्त करने के लिए '1100 रूपये' का 'पुलक वाणी' के नाम से ड्राफ्ट बना कर अपने पुरे नाम एवं निचे दिए गए फॉर्म को भरके निचे दिए गए दिल्ली कार्यालय भेजे:

 

दिल्ली कार्यालय: 'वात्सल्य भवन', पी - 75, गली 4-5, बिहारी कॉलोनी एक्सटेंशन, शाहदरा, दिल्ली - 110032

मोबाइल: +91 - 92101 99306, 98109 00699, 93503 36967

 

 

 
 

 

Sahitya

|| श्री पुलकसागर गुरुवे नमः || 

 

भारत गौरव मुनिश्री पुलक सागर जी गुरु देव की वाणी को उपहार स्वरुप जन-जन तक पहुँचाने का एक प्रयास | गुरुदेव द्वारा लिखे गए साहित्य, आज ही मंगवाए |

ऑर्डर करने के लिए इ-मेल करें: This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.    |   

 

Aakhir Kyn

₹ 100

Mann ke vade, mann ki baate

₹ 50

Sarvasav Vani

₹ 150

Sarvasav Part 2

₹ 150

Bharat Gaurav ne kaha..

₹ 100

Ek aur Muktidoot

₹ 200

Ek Choti si baat Part - I

₹ 150

Botal ka Toofan Dhaam Sharan Dharti Ke Dewata Ek Aur Muktidoot Haye Bhudapa
Kanyadaan Maa Devmati Prem Jeevan Ka Mahamantra Pulak Yug Ram Bin Jag Soona Rishabh Katha
Sanskaaro Ka Shankhnaad Sant Saadhna Sarwagya Vaani Sarwasava Saahitya Saadhna Master Ki
Mri Aawaz Suno Oh! This Old Age Pratham Sopan Sarwaswa  Anasawat Yogi  
   
मंगल विहार
Recent Video
Advertisement
Suvichar

01

होठों पर मुस्कान हर मुश्किल कार्य को आसान कर देती है।

02

पत्थर भले ही आखिरी चोट से टूटता है, परन्तु पहली चोट भी व्यर्थ नहीं जाती।

03

यदि ईश्वर तमाम खुशियाँ इंसान की किस्मत में लिख दे तो फिर हमें प्रार्थना करना ज़रूरी क्यू बताता

04

जब हमे सफलता मिलती तो दुनिया मे हमारी पहचान बनती है,ऑर जब हमे असफलता मिलती है तो हमे दुनिया की पहचान होती है

05

अगर कोई आपको अच्छा लगता है तो अच्छा वो नही अच्छे आप है क्योकि आपने उसमे अच्छाई खोजी है

06

पैसो की धूप आँगन मे आते ही संबंधो के गुलाब मुरझाने लगते है

07

दुश्मन को दूर नही अपने पास रखो की एक दिन दुश्मनी का इरादा अपने आप बदल जाएगा

08

पुरानी चीज़ो की कद्र उस घर मे होती है जिस घर मे बुजुर्ग होते है

09

अपनी हज़ारो ग़लतियो के बाद भी हम अपने आपको प्यार करते है फिर किसी की एक ग़लती पर उससे नफ़रत क्यो करते है

10

कुछ लोग ग़लत काम भी सही तरीके से करते है इसलिए वो सफल है और कुछ लोग सही काम भी ग़लत तरीके से करते है इसलिए वे असफल है

11

जिंदगी भी कितनी वेवफा है कि हम उसे रोज संभालते है और वह हर सुबह हमारी उम्र कम करते जाती है

12

खुशी के लिए काम करोगे तो खुशी नही मिलेगी लेकिन खुश होकर काम करोगे तो खुशी ज़रूर मिलेगी

13

जिनके पास मीठी ज़ुबान होती है उन्हे हीरें मोती पहनने की जरूरत नही होती !

14

मंदिर में वो भगवान है जिसे हमने बनाया है घर मे माँ बाप वो भगवान है जिन्होने हमे बनाया है!

15

समाज मे प्रेम रखना है तो मंदिर मे सामूहिक भजन करो और घर मे प्रेम रखना है तो परिवार मे सामूहिक भोजन करो!

16

जब पुराने कॅलंडर को नये बर्ष के आने पर घर की दीवारो से उतार देते है तो पुरानी बातों को दिल की दीवारो से क्यो नही उतार देते?

17

दुनिया मे सभी रिश्ते मे माँ का रिश्ता सबसे बड़ा है क्योकि उनकी आयु नौ माह अधिक है

18

आदमी जितनी मेहनत नाकामयाबी के रास्ते निकालने मे करता हैं यदि उतनी मेहनत क़ामयाबी के लिए करे तो सब आसान हो जाये!

19

मेहनत से जी चुराकर भाग्य पर विश्‍वास करने वाला अभागा ही होता हैं !

20

जिंदगी में सब कुछ अपनी शर्तो पर नहीं होता,सब कुछ जीतने के लिए कभी कभी बहुत कुछ हारना पड़ता हैं !



Advertisement